बीत गया 9 माह का अनुबंध ,जल जीवन मिशन के कार्य शुरू तक नहीं किए,नाफरमान पीएचई के दो फर्मों का कलेक्टर संजीव झा ने किया टेंडर निरस्त ,एक साल के लिए किया ब्लैक लिस्टेड ,कार्रवाई से मचा हड़कम्प,जानें किन पर गिरी गाज…

बीत गया 9 माह का अनुबंध ,जल जीवन मिशन के कार्य शुरू तक नहीं किए,नाफरमान पीएचई के दो फर्मों का कलेक्टर संजीव झा ने किया टेंडर निरस्त ,एक साल के लिए किया ब्लैक लिस्टेड ,कार्रवाई से मचा हड़कम्प,जानें किन पर गिरी गाज…

कोरबा । जल जीवन मिशन के कार्यों को अनुबंध अवधि में भी प्रारंभ न कर शासन की मंशा पर पानी फेरने वाले दो फर्मों पर कार्रवाई की गाज गिर गई। पीएचई के ईई अनिल कुमार बच्चन के प्रतिवेदन पर कलेक्टर संजीव झा ने सख्त रुख अपनाते हुए दोनों फर्मों का टेंडर निरस्त कर एक वर्ष के ब्लैक लिस्टेड कर दिया है। जिन फर्मों पर कार्रवाई की गई है उनमें मेसर्स पीहू इंटरप्राइजेज कोरबा और ओम साईं एसोसिएट्स कोरबा शामिल हैं। प्रशासन की इस कार्रवाई से संबंधितों में हड़कम्प मचा है वहीं इससे अन्य ठेकेदार निर्धारित समयावधि में प्रोजेक्ट पूरा करने कार्य में गति लाएंगे।

पीएचई के कार्यपालन अभियंता अनिल कुमार ने बताया कि जल जीवन मिशन के अंतर्गत मेसर्स पीहू इंटरप्राईजेस, कोरबा को ग्राम कोल्गा वि.ख. कोरबा में उच्चस्तरीय पानी टंकी का निर्माण कार्य एवं पाईप लाईन बिछाने 60 लाख 41 हजार रुपए का कार्य आबंटित किया गया था। इस कार्य को 9 माह की समयसीमा में पूर्ण किया जाना था। किन्तु उनके द्वारा कार्य ही प्रारंभ नहीं किया गया। ठीक इसी तरह जल जीवन मिशन के अंतर्गत मेसर्स ओम सांई एसोसिएट्स, कोरबा को ग्राम खुटाकुण्डा, दादरपारा, तेंदूभांठा वि.ख. करतला में उच्चस्तरीय पानी टंकी का निर्माण कार्य एवं पाईप लाईन बिछाने का 90 लाख 14 हजार रुपए का कार्य आबंटित किया गया था। इस कार्य को 9 माह की समयसीमा में पूर्ण किया जाना था। किन्तु उनके द्वारा कार्य ही प्रारंभ नहीं किया गया। 28 सितंबर को कलेक्टर श्री झा की अध्यक्षता में आहूत विभागीय अधिकारियों एवं ठेकेदारों की बैठक में भी अप्रसन्नता व्यक्त की गई थी। किन्तु फिर भी दोनों ठेकेदारों द्वारा कार्य प्रारंभ न किये जाने के कारण अनुबंध के प्रावधानों के अनुसार अनुबंध निरस्त करते हुए जल जीवन मिशन के कार्यों के आगामी निविदाओं हेतु भाग लेने से एक वर्ष के लिए ब्लेकलिस्ट किया गया है।

कोरबा