सना परवीन ने एमसीआई की परीक्षा में सफलता प्राप्त कर रतनपुर का बढ़ाया मान

सना परवीन ने एमसीआई की परीक्षा में सफलता प्राप्त कर रतनपुर का बढ़ाया मान

रतनपुर । विदित हो कि सना परवीन पिता शेख मुबारक निवासी भेडीमुडा रतनपुर ने 12वीं तक की पढ़ाई कन्या शाला रतनपुर हिंदी मीडियम में की और हिंदी मीडियम से पढ़ाई करने वाली इस बेटी ने डॉक्टर की उपाधि से पूरे नगर को गौरवान्वित किया है डॉक्टर की पढ़ाई करने के लिए सना
परवीन विदेश चली गई थी और उन्होंने किर्गिस्तान में 6 साल रहकर एमडी की पढ़ाई की।

किर्गिस्तान से वापस आकर दिल्ली में रहकर मेडिकल काउंसलिंग ऑफ इंडिया लाइसेंसिंग परीक्षा की तैयारी करने लगी और पहली बार एमसीआई की परीक्षा में भाग लेकर उन्होंने 158 रैंक पर यह परीक्षा में सफलता प्राप्त की।
हाल ही में एमसीआई परीक्षा का परिणाम आया है और इसमें सफलता प्राप्त कर रतनपुर की बेटी ने अपने पिता शेख मुबारक का, हीं, नहीं बल्कि पूरे रतनपुर और अपने समाज को गौरवान्वित किया हैं उनकी सफलता में मुस्लिम समाज के लोगों ने भी उन्हें सम्मानित किया और रतनपुर में भी लोगों के द्वारा उन्हें बधाई देने की होड़ लगी रही।

यहां पर यह बताना भी लाजमी है कि एमसीआई परीक्षा 20 जनवरी 2024 को आयोजित की गई, और परिणाम 6 फरवरी 2024 को आए, कुल 38,535 छात्रों ने परीक्षा दी, जिनमें से 7,781 लोग ही उत्तीर्ण हो पाए, और बाकि 30,046 लोग असफल रहे।सना परवीन पिता शेख मुबारक की इकलौती लड़की है जिन्होंने विदेश बिश्केक किर्गिस्तान में पढ़ रही थी, उसने 4 जुलाई 2023 को केएसएमए बिश्केक नामक कॉलेज से डिग्री प्राप्त की, उसने भारत में एमसीआई (मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया) लाइसेंसिंग परीक्षा का पहला प्रयास दिया पहले प्रयास में परीक्षा पास कर ली और भारत में मेडिकल प्रैक्टिस का लाइसेंस प्राप्त किया। उनकी इस सफलता में मुस्लिम समाज भेड़ीमुडा बड़ी बाजार के अध्यक्ष सैय्यद आरिफ अली और मुस्लिम जमात के सदर सैयद निज़ाम अली ने उन्हें गुलदस्ता देकर सम्मानित किया और उनकी उपलब्धि को समाज को गौरवान्वित करने वाला बताया। इस दौरान समाज के लोग बड़ी संख्या में मौजूद रहे और लोगों ने उनको बधाइयां दी।

बिलासपुर