‘एक गरीब का बेटा धोती पहनकर सनातन धर्म और योग का प्रचार कर रहा, लोग इससे जलते हैं’- बाबा रामदेव

‘एक गरीब का बेटा धोती पहनकर सनातन धर्म और योग का प्रचार कर रहा, लोग इससे जलते हैं’- बाबा रामदेव

बाबा रामदेव (Baba Ramdev) ने योग, आयुर्वेद और नेचुरोपैथी का समर्थन करते हुए कहा कि आयुर्वेद और योग ने कई गंभीर बीमारियों को ठीक कर लाखों लोगों की जान (Ayurvedic Save Many Lives) बचाई है. इस बात से कोई भी इनकार नहीं कर सकता. आयुर्वेद पर सवाल उठाने वालों पर बाबा ने कहा कि जो लोग सवाल उठा रहे हैं वो उनसे जलते हैं. उन्हें डर है कि एक गरीब का बेटा जो धोती पहनता है वो कई बड़ी-बड़ी कंपनियों की दुकानें बंद न करा दें.

उन्होंने आरोप लगाया कि इन सबके पीछे तो बड़ी-बड़ी मल्टीनेशनल कंपनियों (Multinational Companies) का सपोर्ट है. लेकिन उनके पास तो सिर्फ धर्म और सत्य की ही ताकत है. योग गुरु ने कहा कि वह अब तक 10 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा की चैरटी कर चुके हैं. उन्होंने योग, सनातन धर्म (Sanatan Dharma) और संस्कृति का गौरव पूरे विश्व में बढाया है.

आयुर्वेद का होता है अपमान-रामदेव

साथ ही उन्होंने कहा कि योग, आयुर्वेद और नेचुरोपैथी के मामले में उनसे बड़ा कोई भी नहीं है. लेकिन एलोपैथी के डॉक्टर इस सब को सूडो साइंस बोलते हैं. रामदेव बोले कि वह योग आयुर्वेद पर सवाल उठाने वाले डॉक्टर्स के खिलाफ हैं न कि एलोपैथी के खिलाफ है. उन्होंने कहा कि अच्छे एलोपैथिक डॉक्टर का वह पूरा सम्मान करते हैं लेकिन फिर भी आयुर्वेद का अपमान किया जाता है.

बाबा रामदेव ने कहा कि IMA एलोपैथी का ठेकेदार नहीं  है. ये एक NGO है जो अंग्रेजों के वक़्त से बना है, इसीलिए इसे गंभीरता से नहीं लेना चाहिए. उन्होंने कहा कि ये कभी नहीं भूलना चाहिए कि एलोपैथी को बनाने वाले भी महर्षि सुश्रुत थे

देश विदेश