बिना टेंडर जारी किए चहेतों को दुकान अलॉट करने का आरोप ,मेडिकल कॉलेज प्रबंधन की मनमानी

बिना टेंडर जारी किए चहेतों को दुकान अलॉट करने का आरोप ,मेडिकल कॉलेज प्रबंधन की मनमानी

जगदलपुर। डिमरापाल मेडिकल कॉलेज में प्रबंधन की मनमानी का मामला लगातार सामने आ रहा है। ऐसा ही एक मामला सामने आया है। दरअसल, लंबे समय से ये शिकायत मिल रही थी कि प्रबंधन ने बिना किसी टेंडर के मेडिकल कॉलेज बिल्डिंग में बनी दुकानों को दूसरों को आबंटित कर दिया है।

माना जा रहा है कि करीबी लोगों को निजी लाभ के मकसद से ऐसा किया गया है। जिसमें किराना दुकान और कैंटीन संचालित हो रहा है। अपने चहेतों को दुकान मुक्त कराने के साथ ही इसके किराए का भी कोई हिसाब मेडिकल कॉलेज के पास नहीं है।
मामले की जानकारी बस्तर कलेक्टर को मिलने के बाद उन्होंने पूरे मामले में जांच के आदेश दे दिए हैं। साथ ही मेडिकल कॉलेज के अधीक्षक को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। वहीं लापरवाही पर कार्रवाई की चेतावनी भी दी गई है।

सवालों के घेरे में प्रबंधन

इस मामले में सवाल उठ रहे हैं कि मेडिकल कॉलेज के अंदर निजी लोगों को किस तरह से इन दुकानों के संचालन की जिम्मेदारी सौंपी गई और इसके लिए आखिर प्रक्रिया का पालन क्यों नहीं किया गया?

जगदलपुर