धान खरीदी का पहला पखवाड़ा बीता ,19 उपार्जन केंद्रों में अब तक नहीं हुई बोहनी ,41 उपार्जन केंद्रों में 5 करोड़ 15 लाख से अधिक के 25 हजार क्विंटल धान की आवक ,जानें कितने किसानों ने बेचा धान ,कितना हुआ उठाव….

धान खरीदी का पहला पखवाड़ा बीता ,19 उपार्जन केंद्रों में अब तक नहीं हुई बोहनी ,41 उपार्जन केंद्रों में 5 करोड़ 15 लाख से अधिक के 25 हजार क्विंटल धान की आवक ,जानें कितने किसानों ने बेचा धान ,कितना हुआ उठाव….

हसदेव एक्सप्रेस न्यूज कोरबा। एक नवंबर से समर्थन मूल्य पर प्रदेश में शुरू हुई धान खरीदी अभियान का पहला पखवाड़ा बीत चुका है। आदिवासी बाहुल्य औद्योगिक जिला कोरबा में नवीन उपार्जन केंद्रों सहित कुल 18 उपार्जन केंद्रों में धान की बोहनी तक नहीं हो सकी। जिले के 41 समितियों के 41 उपार्जन केंद्रों में 25 हजार 272 क्विंटल 40 किलो धान की समर्थन मूल्य पर खरीदी हुई । 738 किसानों ने यह धान बेचा ।

यहां बताना होगा कि विधानसभा चुनाव के पूर्व इस साल राज्य शासन किसानों के मांग व विपक्ष के आरोप के पहले ही किसानों के हित मे एक नवंबर से 31 जनवरी तक समर्थन मूल्य पर धान खरीदी कर रही।आदिवासी बाहुल्य कोरबा जिले में धान खरीदी अभियान का पहला पखवाड़ा बीतने के बाद जो आंकड़े आए हैं उससे 41 समितियों के 41 उपार्जन केंद्रों में 25 हजार 272 क्विंटल 40 किलो धान की समर्थन मूल्य पर खरीदी हुई । 738 किसानों ने यह धान बेचा । खरीदे गए धान की कीमत 5 करोड़ 15 लाख 55 हजार 696 रूपए की है। खास बात यह है कि जिले के 60 में से 19 उपार्जन केंद्रों में अभी तक बोहनी नहीं हुई। इन उपार्जन केंद्रों में नवीन स्वीकृत व पुराने केंद्र भी शामिल हैं। हालांकि अगले सप्ताह तक सभी केंद्रों में धान की आवक शुरू होने के आसार हैं। जिन केंद्रों में धान की बोहनी तक नहीं हुई है उनमें नवीन उपार्जन केंद्र बोईदा ,चचिया,लेमरु,पोटापानी ,एवं पुराने उपार्जन केंद्र कुल्हरिया ,कोरकोमा,तिलकेजा,दूरपा,
पठियापाली,कुदुरमाल,मोरगा,श्यांग ,
उमरेली ,सुखरीकला,दादरखुर्द ,सोनपुरी एवं सोहागपुर शामिल है। शासन द्वारा खरीदी केंद्रों में धान बेचने के लिए किसानों के लिए की गई व्यवस्थाओं से किसान संतुष्ट है। साथ ही टोकन लेने के लिए टोकन तुम्हर हाथ मोबाइल ऐप से भी किसान लाभान्वित हो रहे हैं। उपार्जन केंद्रों से धान का उठाव की गति भी तेज होने लगी है। अब तक जिले के धान उपार्जन केंद्रों में कुल 25 हजार 272 हजार क्विंटल 40 किलो धान की आवक हुई है। जिसमे से 8 हजार 710 क्विंटल धान का उठाव कर लिया गया है। आगामी दिनों में धान खरीदी में तेजी के साथ धान के उठाव में भी और तेजी आएगी। जिसे देखते हुए सभी व्यवस्थाएं दुरुस्त रखने के निर्देश दिए गए हैं।आगामी 21 नवंबर को धान खरीदी के लिए 238 टोकन जारी किए गए हैं। इनमें समिति के माध्यम से 130 और मोबाईल ऐप से 108 टोकन जारी किए गए है। जारी टोकन के माध्यम से 9 हजार 474 क्विंटल 40 किलो धान की खरीदी की जाएगी। 21 नवंबर के लिए जारी टोकन में धान खरीदी केन्द्र तुमान में आठ, कटघोरा में तेरह ,जवाली-रंजना में एक, पाली में बारह,भिलाई बाजार में तीन,कोरबी(पाली) में आठ,बरपाली (कोरबा) में आठ, सोहागपुर, कराइनारा में एक,कनकी में दो, नवापारा बेहरचुआं में तीन,चिकनिपाली लबेद में सात,पोड़ी में पांच, बरपाली में दो,कोथारी में नो, जटगा तुमान में दो,हरदी बाजार में ग्यारह,रामपुर में सोलह,कोरबी-पोड़ी उपरोड़ा में बारह,करतला में तीन, फारसवानी में दो,छुरीकला पांच,पसान तीन,पाली नुनेरा दो, सिरमिना सात, जवाली पांच, पोड़ीउपरोड़ा तीन, बिंझरा आठ, भैसमा छः, कोरकोमा तीन, उत्तरदा तीन,जटगा दो, निरधि में सत्रह, हरदी बाजार नोनबिर्रा पांच,अखरपाली दो, करतला केराद्वारी तीन, पसान लेंगा के लिए छः, लाफा के लिए चार,चिकनिपाली के लिए दो, चैतमा के लिए 16, छुरीकला-सुमेधा में दो, नवापारा के लिए नो और कुल्हरिया खरीदी केंद्र में चार टोकन जारी किए गए है। इस तरह 21 नवंबर को 42 खरीदी केंद्रों के लिए कुल 238 टोकन पर 9 हजार 474 क्विंटल 40 किलो धान खरीदी होगी।

कोरबा