केंद्रीय कोयला मंत्रालय की पॉलिसी : मेगा परियोजनाओं के विस्तार पर राज्य शासन के उच्च अधिकारियों की बैठक में कोरबा कलेक्टर व एस.पी. हुए शामिल

केंद्रीय कोयला मंत्रालय की पॉलिसी : मेगा परियोजनाओं के विस्तार पर राज्य शासन के उच्च अधिकारियों की बैठक में कोरबा कलेक्टर व एस.पी. हुए शामिल

एस.ई.सी.एल.  मुख्यालय बिलासपुर स्थित बिलासपुर भवन में विगत दिनों राज्य शासन के प्रशासनिक अधिकारियों के साथ उच्च स्तरीय बैठक सम्पन्न हुई जिसमें कम्पनी की मेगा परियोजनाओं के विकास तथा त्वरित विस्तार संबंधी मुद्दों पर सार्थक चर्चा हुई। जानकारी के अनुसार बिलासपुर में केंद्रीय कोयला मंत्रालय के दिशा निर्देश के प्रारुप पर कोयला खदानों में उत्पादन की स्थिति और भविष्य की रणनीति को लेकर उक्त बैठक हुई है।केंद्रीय कोयला मंत्रालय द्वारा स्कीम लाई जा रही है जिसमें उन कोयला ब्लॉक्स के आबंटनधारियों को ऐसे कोयले की खदानों को सरेंडर करने की अनुमति मिल सके जो किन्हीं कारणों से खदान को विकसित नहीं कर पा रहे हैं। इस कदम से कोयले की आपूर्ति को ऐसे समय में बढ़ावा मिलने की संभावना है जब पॉवर प्लांट कोयले की सुनिश्चित आपूर्ति के लिए लगातार प्रयासरत हैं।

 सरेंडर कर चुके खदानों की नए सिरे से शीघ्र ही नीलामी की जाएगी ताकि उत्पादन जल्द से जल्द शुरू होना सुनिश्चित किया जा सके। और देश को में बिजली आपूर्ति में अवरोध का सामना न करना पड़े।बिजली उत्पादन करने वाली कंपनियों को विदेशों से कोयला विवशता में आयात करना पड़ता है क्योंकि देश में कोयले के भंडार पर्याप्त होने के बाद भी बल्कि कोल इंडिया लिमिटेड जैसी कम्पनियों की खनन क्षमता बहुत कमजोर है। कोल इंडिया लिमिटेड सहित  कुछ अन्य निजी कंपनियों के स्वामित्व वाली कई बंद कोयला खदानें बेकार पड़ी हैं जिन्हें नई पॉलिसी के तहत उन उत्पादकों को अधिकार दिया जाएगा जो शीघ्रता से अधिक मात्रा में खनन करने के लिए तैयार हैं।देश में मांग के अनुपात में कोयले की आपूर्ति कम है और अधिक मात्रा में उत्पादन होने पर अंतरराष्ट्रीय बाजार में भी लाभ होगा। इन्ही सब परिस्थितियों को देखते हुए भारत सरकार कोयला उत्पादन में तेजी लाने के लिए विभिन्न बिंदुओ पर काम कर रही है।इस बैठक में सी.एम.डी. एस.ई.सी.एल.  ए.पी. पण्डा की गरिमामयी उपस्थिति रही। बैठक का अध्यक्षीय नेतृत्व कमिश्नर बिलासपुर संभाग डॉ. संजय अलंग ने की। बैठक में आईजी बिलासपुर रेंज  रतनलाल डांगी, मुख्य वन संरक्षक बिलासपुर रेंज नावेद शुजाऊद्दीन, कलेक्टर जिला कोरबा रानू साहू, पुलिस अधीक्षक कोरबा भोजराम पटेल, एस.ई.सी.एल.  के निदेशक तकनीकी (संचालन)  एम.के. प्रसाद, निदेशक (वित्त सह कार्मिक)  एस.एम. चौधरी, निदेशक तकनीकी (योजना/परियोजना)  एस.के. पाल, उपायुक्त बिलासपुर  अर्चना मिश्रा, वन मंडलाधिकारी वनमंडल कोरबा/कटघोरा, एस.ई.सी.एल.  कुसमुण्डा क्षेत्रीय महाप्रबंधक  आर.पी. सिंह, एस.ई.सी.एल.  गेवरा महाप्रबंधक  एस.के. मोहंती, एस.ई.सी.एल.  दीपका महाप्रबंधक  आर.पी. शाह, मुख्यालय से विभिन्न विभागाध्यक्षों की भी उपस्थित मुख्य रूप से रही।

बिलासपुर