कोरबा – दशहरा के दिन शहर के बीचोंबीच चेन स्नैचिंग, बदमाशों ने लगाया पुलिसिया सुरक्षा में सेंध

कोरबा – दशहरा के दिन शहर के बीचोंबीच चेन स्नैचिंग, बदमाशों ने लगाया पुलिसिया सुरक्षा में सेंध

कोरबा में दशहरे के दिन पुलिस की सुरक्षा व्यवस्था  में बदमाशों ने सेंध मार दी है. शहर के बीचोंबीच रामपुर चौकी व थाना कोतवाली के अंतर्गत स्थित राजेन्द्र नगर फेस टू में दिनदहाड़े महिला के साथ चेन स्नेचिंग  की घटना घट गई है.
कोरबाः दशहरे के दिन पुलिस की सुरक्षा व्यवस्था में बदमाशों ने सेंध मार दी है. शहर के बीचोंबीच रामपुर चौकी व थाना कोतवाली के अंतर्गत स्थित राजेन्द्र नगर फेस टू में दिनदहाड़े महिला के साथ चेन स्नेचिंग  की घटना घट गई है. त्योहारों में पुलिस कितनी मुस्तैद है, इसका अंदाजा इसी बात से लगा सकते हैं कि कोतवाली टीआई (Kotwali Ti) सनत सोनवानी का सरकारी नंबर स्विच ऑफ है. यही सरकारी नंबर आम लोगों के बीच होता है. जिससे सामान्य लोग टीआई से संपर्क करते हैं.

दशहरा के दिन शहर के बीचोंबीच चेन स्नैचिंग
इस तरह घटी घटना
रामपुर चौकी अंतर्गत शुक्रवार की सुबह राजेंद्र नगर फेस टू में रहने वाली एक महिला चैन स्नेचिंग का शिकार हो गई. बाइक सवार दो युवकों ने पता पूछने के बहाने उसके गले पर झपट्टा मारकर सोने का चेन लूटा और बाइक पर फर्राटा मारते हुए फरार हो गए. अधेड़ उम्र की पीड़ित महिला दुलौरीन बाई अपने घर के बाहर ही टहल रही थी. महिला की मानें तो दोनों युवक काफी देर से रेकी कर रहे थे. महिला ने बताया कि दोनों युवक छत्तीसगढ़ भाषा में बात कर रहे थे. इस आधार पर दोनों के स्थानीय होने की आशंका व्यक्त की जा रही है.सीसीटीवी फुटेज भी आया सामने, लेकिन तस्वीर धुंधली
घटना के बाद कॉलोनी में लगा सीसीटीवी फुटेज के सामने आया है. आस-पड़ोस के लोगों ने सुरक्षा व्यवस्था के लिए अपने घरों के बाहर सीसीटीवी लगा रखा है. लेकिन अब तक मिल रही जानकारी के अनुसार सीसीटीवी की फुटेज (cctv footage) स्पष्ट नहीं है. जिससे बदमाशों की पहचान कर पाना मुश्किल है. बाइक का नंबर भी साफ तरह से नहीं दिख रहा है. हालांकि जिस बाइक के जरिए इस घटना को अंजाम दिया गया, कंपनी की पहचान कर ली गई है.रामपुर चौकी में कई चोरियों का नहीं हुआ खुलासा
रामपुर चौकी अंतर्गत रिहायशी इलाके में चोरी कि यह कोई नई घटना रही है. इसके पूर्व भी पीजी कॉलेज के आस पास एक ही रात में कई दुकानों के ताले टूटे थे. लगातार चोरियां हुई हैं. इस विषय में कोई खुलासा नहीं हुआ. रात्रि गश्त पर भी बड़ा सवाल है. सुरक्षा व्यवस्था में बदमाश लगातार सेंध लगा रहे हैं लेकिन पुलिस को कोई अहम सुराग नहीं मिल रहा है. ना तो कोई ठोस प्रयास ही मैदान पर नजर आ रहा है.
एसपी भले ही जिले में स्कूल के संग खाकी के रंग और अन्य प्रोग्राम चलाकर सोशल पुलिसिंग (social policing) पर जोर दे रहे हैं, लेकिन शहर में ही पुलिसिंग काफी ढीली पड़ती दिख रही है

कोतवाली टीआई का नंबर ऑफ
घटना की जानकारी के साथ ही बदमाशों की पहचान संबंधी जानकारी के लिए पुलिस से संपर्क किया गया।. रामपुर चौकी प्रभारी मयंक मिश्रा ने फोन रिसीव नहीं किया. जबकि कोतवाली टीआई सनत सोनवानी का सरकारी नंबर स्विच ऑफ मिला. त्योहारों के दौरान पुलिस पर सुरक्षा व्यवस्था को संभालने की जिम्मेदारी और भी ज्यादा बढ़ जाती है. ऐसे में कोतवाली टीआई का नंबर स्विच ऑफ होना बड़ी लापरवाही को दर्शाता है.

कोरबा