बिंझरा में उत्पात मचाने के बाद हाथियों का झुंड पहुंचा अमलडीहा ,दहशत में ग्रामीण

बिंझरा में उत्पात मचाने के बाद हाथियों का झुंड पहुंचा अमलडीहा ,दहशत में ग्रामीण

कोरबा। वन मंडल कटघोरा के तीन रेंज पसान, केंदई व जटगा में बड़ी संख्या में हाथियों का झुंड विचरण कर रहा है। हाथियों के विचरण से क्षेत्रवासी काफी परेशान हैं । बुधवार की रात 9 हाथियों की झुंड ने जटगा वन परिक्षेत्र के बिंझरा गांव में पहुंच कर 4 ग्रामीणों के बाड़ी को उजाड़ दिया जिससे उन्हें भारी नुकसान उठाना पड़ा है।

गौरतलब हो कि इन्हीं में से सात हाथियों के झुंड ने जहां मंगलवार की शाम पसान रेंज के चोटिया चिरमिरी मुख्य मार्ग पहुंचकर जाम लगा दिया था इस जाम में पाली तानाखार विधायक मोहित केरकेट्टा का काफिला घंटो फंसा रहा । बाद में सूचना दिये जाने पर वन अमला मौके पर पहुंचा और हाथियों को खदेड़ा । वन अमले द्वारा खदेड़े जाने पर हाथी जंगल की ओर गए हाथियों के जाने पर आवागमन सामान्य हुआ। वहीं विधायक केरकेट्टा अपने काफिले के साथ गंतव्य की ओर रवाना हुए । वहीं बुधवार की रात 9 हाथी जटगा वन परिक्षेत्र के बिंझरा गांव में पहुंच कर 4 ग्रामीणों के बाड़ी को उजाड़ दिया जिससे उन्हें भारी नुकसान उठाना पड़ा है।हाथियों ने बाड़ी में लगे सब्जी के पौधो को पूरी तरह तहस नहस कर दिया। सुबह जानकारी होने पर वन विभाग का अमला मौके पर पहुंचा और नुकसानी का आकलन करने के साथ रिपोर्ट तैयार की । बिंझरा गांव में उत्पात मचाने के बाद हाथियों का दल अमलीकुंडा के रास्ते अमलडीहा पहाड़ पहुंच गया। सुबह हाथियों को यहां पर देखा गया । वन विभाग द्वारा सूचना दिये जाने पर उसके द्वारा हाथियों की निगरानी की जा रही है। उधर कटघोरा डिविजन के केंदई रेंज में 23 हाथी अभी भी विचरण रत है। इसमें से 15 हाथी लाल पुर परिसर व 8 कोरबी के जगंल में मौजूद हैं। हाथियों की लगातार उपस्थिति से क्षेत्रवासी हलाकान है।

कोरबा