चिटफंड कंपनी देव्यानी की ठगी के शिकार 9866 निवेशकों के चेहरे पर लौटी मुस्कान ,संपत्ति नीलाम कर शासन ने लौटाई 4.14 करोड़ की राशि,सीएम का जताया आभार

चिटफंड कंपनी देव्यानी की ठगी के शिकार 9866 निवेशकों के चेहरे पर लौटी मुस्कान ,संपत्ति नीलाम कर शासन ने लौटाई 4.14 करोड़ की राशि,सीएम का जताया आभार

रायपुर – कई चिटफंड कंपनियां दोगुना ब्याज देने का झांसा देकर निवेशकों के रकम जमा कराए। इसके बाद बोरिया बिस्तर समेट भाग निकलने से निवेशकों की चिंता बढ़ गई। ऐसे निवेशकों के रकम लौटाने प्रदेश सरकार ने सत्ता में आने से पहले वादा किया था, अब यह वादा पूरा किया जा रहा है। निवेशकों को उनके रकम लौटाए जा रहे हैं। इसी कड़ी में प्रदेश सरकार ने चिटफंड कंपनी देव्यानी प्रापर्टी लिमिटेड की संपत्ति की नीलामी से प्राप्त 4 करोड़ 14 लाख 97 हजार 304 रुपए 9866 निवेशकों के खाते में भेजकर इनके चेहरे की मुस्कान लौटाई है।

इसे लेकर रायपुर के सभागार में निवेशक न्याय कार्यक्रम भी आयोजित की गई।
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि विपरीत परिस्थिति में राज्य सरकार हर पल निवेशकों के साथ है। निवेशकों को उनका पैसा कैसे वापस मिले, इस संबंध में प्रत्येक माह समीक्षा की जा रही है। चिटफंड कंपनी के संचालकों, एजेंटों ने राज्य की भोली-भाली जनता को पैसा दो गुना, चार गुना करने के लालच में फंसाया। लोगो ने उनकी जिंदगी भर की कमाई, प्रॉपर्टी और गहना बेचकर इसमें पैसा लगाया। छत्तीसगढ़ के अलावा अन्य किसी भी राज्य में निवेशकों का पैसा अभी तक उन निवेशकों को नहीं मिला है। उन्होंने कहा की कंपनी के संचालकों, एजेंटों के बारे में जो भी जानकारी है, उसे उपलब्ध कराएं। सभी के सहयोग की आवश्यकता है। गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू, कृषि मंत्री रविंद्र चौबे, वरिष्ठ विधायक सत्यनारायण शर्मा ने भी प्रदेश सरकार की इस पहल को सराहनीय बताया। इस मौके पर संसदीय सचिव विकास उपाध्याय, छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल के अध्यक्ष कुलदीप जुनेजा, विधायक अनिता योगेंद्र शर्मा, महापौर एजाज ढेबर, राज्य खनिज विकास निगम के अध्यक्ष गिरीश देवांगन, जिला पंचायत रायपुर की अध्यक्ष डोमेश्वरी वर्मा, आईजी ओपी पाल समेत अन्य प्रशासनिक अधिकारी मौजूद रहे।

रायपुर