रूरल इन्डस्ट्रियल पार्क के लिए जगह चिन्हांकन करने कलेक्टर पहुंचे कोराई, रंजना गौठान ,ग्रामीणों को औद्योगिक गतिविधियों से जोड़कर आजीविका के साधन किए जाएंगे प्रदान

रूरल इन्डस्ट्रियल पार्क के लिए जगह चिन्हांकन करने कलेक्टर पहुंचे कोराई, रंजना गौठान ,ग्रामीणों को औद्योगिक गतिविधियों से जोड़कर आजीविका के साधन किए जाएंगे प्रदान

मीटर रीडिंग के काम में राजीव युवा मितान क्लब के सदस्यों को किया जाएगा संलग्न,कलेक्टर श्री झा ने ग्रामीणों, महिला समूहों और राजीव युवा मितान क्लब के सदस्यों से की विस्तृत चर्चा

कोरबा । मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के मंशानुसार जिले के सभी विकासखण्डों में दो-दो रूरल इन्डस्ट्रियल पार्क विकसित करने के लिए कलेक्टर संजीव झा ने शुक्रवार को विकासखण्ड कटघोरा के कोराई और रंजना गौठान का औचक निरीक्षण किया। कलेक्टर श्री झा ने गौठानों में पहुंचकर रूरल इन्डस्ट्रियल पार्क विकसित करने हेतु गौठानों में उपलब्ध जगहों का अवलोकन किया। उन्होने गौठानों में पहले से विकसित किये गये बिजली, पानी, सड़क आदि की सुविधाओं का भी जायजा लिया।

कलेक्टर ने दोनों गांवों के ग्रामीणों और स्व सहायता समूह की महिलाओं से रूरल इन्डस्ट्रियल पार्क से ग्रामीणों को मिलने वाले स्व रोजगार और उनसे होने वाले लाभ के बारे में विस्तृत चर्चा की। साथ ही युवाओं को सांस्कृतिक, सामाजिक एवं खेल गतिविधियों से जोड़कर गांव के विकास में सहायता करने गांवों में गठन किये गये राजीव युवा मितान क्लब के सदस्यों से भी चर्चा की। कलेक्टर ने ग्राम रंजना में मितान क्लब के सदस्यों से चर्चा करते हुए मीटर रीडिंग के काम में मितान क्लब के सदस्यों को संलग्न के निर्देश मौके पर मौजूद अधिकारियों को दिये। रिपा के माध्यम से ग्रामीणों को औद्योगिक गतिविधियों से जोड़कर आजीविका के साधन प्रदान किये जायेंगे।

कलेक्टर ने कहा कि रिपा क्षेत्र में ग्रामीणों के लघु उद्योग स्थापित करने के लिए शेड बनाकर दिया जाएगा। साथ ही बिजली, सड़क, पानी एवं बनाये गये उत्पादों के मार्केटिंग की व्यवस्था प्रशासन के द्वारा सुनिश्चित की जायेंगी। रिपा क्षेत्र में ग्रामीण छोटे लघु उद्योग स्थापित करके ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूती प्रदान करने में सहायक होंगे। रिपा क्षेत्र में कृषि और गैर कृषि आधारित औद्योगिक गतिविधियां संचालित की जायेंगी। इनमें पेपर बैग निर्माण, मिठाई डब्बा निर्माण, बेकरी उत्पाद, पेपर प्लेट-नेपकिन, वर्मी खाद बैग, जूट बैग, एलईडी बल्ब, सुगंधित चांवल प्रोसेसिंग, स्टेशनरी आईटम, नूडल्स, हल्दी, मिर्च, धनिया, मसाला पाउडर निर्माण शामिल है। इस दौरान जिला पंचायत सीईओ नूतन कंवर, जनपद पंचायत कटघोरा के सीईओ आर.एस. मिर्झा सहित कृषि, उद्यानिकी एवं राजस्व विभाग के अन्य अधिकारी-कर्मचारी और ग्रामीणजन मौजूद रहे। कलेक्टर श्री झा ने कोराई और रंजना गौठान में पहुंचकर स्वसहायता समूह की महिलाओं द्वारा गौठान में किये जा रहे आजीविका गतिविधियों के संबंध में जानकारी ली। गौठान में कार्यरत स्वसहायता समूह की महिलाओं ने बताया कि वे गौठान में वर्मी कम्पोस्ट निर्माण के साथ अन्य आजीविका गतिविधियां संचालित कर रही हैं। कलेक्टर श्री झा ने गौठान की भूमि का ज्यादा से ज्यादा उपयोग करने का सुझाव देते हुए खाली जमीनों में आलू, शकरकंद, जिमीकंद, अदरक एवं हल्दी आदि की खेती करने के निर्देश दिये। साथ ही चारागाह क्षेत्र में नेपियर घास भी लगाने के निर्देश दिये। इस दौरान कलेक्टर ने ग्रामीणों से राशन कार्ड, पेंशन प्रकरण, वन अधिकार पट्टा, राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना अंतर्गत पंजीयन, फौती, बंटवारा, शासकीय राशन दुकान से राशन वितरण एवं प्राकृतिक आपदा से मृत्यु के प्रकरणों की जानकारी ली। कलेक्टर श्री झा ने लंबित राजस्व प्रकरणों के त्वरित निराकरण के लिए राजस्व शिविर लगाने के निर्देश मौके पर मौजूद अधिकारियों को दिये। उन्होने कहा कि शिविर में ग्रामीणों के भूमि खसरा का वाचन किया जाएगा। शिविर में लंबित प्रकरणों की जानकारी लेकर तत्काल निराकरण किया जाएगा।

कोरबा