ब्रेकअप के बाद दूसरे युवक से बातचीत गुजरा नागवार ,युवक ने घर घुसकर युवती से की मारपीट,रेप की भी कोशिश ,पीड़िता ने थाने पहुंचकर दर्ज कराई एफआईआर

ब्रेकअप के बाद दूसरे युवक से बातचीत गुजरा नागवार ,युवक ने घर घुसकर युवती से की मारपीट,रेप की भी कोशिश ,पीड़िता ने थाने पहुंचकर दर्ज कराई एफआईआर

बिलासपुर। जिले में रूम में घुसकर युवक ने युवती की बेरहमी से पिटाई करते हुए मोबाइल तोड़ दिया और रेप की कोशिश भी की। युवती का कसूर ये था कि उसने अपने बॉयफ्रेंड (युवक) से ब्रेकअप कर ली है। इसी बात से नाराज युवक को इतना गुस्सा आया कि वह रूम में घूस गया और युवती की जमकर पिटाई कर दी और शारीरिक संबंध बनाने की कोशिश करने लगा। युवती ने मोबाइल से कॉल करना चाहा, तो उसने मोबाइल पटककर तोड़ दिया। किसी तरह युवती रूम से भागकर बाहर निकली और थाने पहुंची। पुलिस ने मारपीट का मामला दर्ज किया है।

घटना सिविल लाइन थाने की है। रिलेशनशिप तोड़कर दूसरे लड़के से बात करने पर टूट पड़ा युवक। जांजगीर-चांपा की रहने वाली 22 वर्षीय लड़की कॉलेज स्टूडेंट है। वह सिविल लाइन क्षेत्र में बतौर पेइंग गेस्ट किराए के रूम में रहती है। जांजगीर-चांपा जिले के ही बाराद्वार के डेरागढ़ निवासी मनीष साहू से उसकी जान-पहचान और दोस्ती हुई। फिर बाद में दोनों एक-दूसरे से प्यार करने लगे। बीते बुधवार की सुबह लड़की रूम में थी, तभी युवक पहुंच गया। इस दौरान वह युवती के साथ शारीरिक संबंध बनाने की कोशिश करने लगा। उसके मना करने पर गाली-गलौज करने लगा। फिर उसने बेरहमी से पिटाई शुरू कर दी। युवती के आंख में चोट के निशान। दूसरे लड़के से बात करने की बात पर मारपीट, तोड़ दिया मोबाइल युवती ने बताया कि तीन साल पहले उनकी दोस्ती थी। वर्तमान में उसके साथ कोई संबंध नहीं है और उनका ब्रेकअप हो गया है। मनीष साहू उसके रूम को पहले से जानता था। इसलिए सुबह करीब 10.30 बजे कमरे में घुस गया। वह बातचीत के दौरान दूसरे लड़के से बात करने से मना करने लगा और गुस्से में आ गया। इस दौरान मारपीट से उसके शरीर में कई जगह चोटे भी आई है और आंख सूज गया है। युवती ने मदद के लिए अपने मोबाइल से कॉल करना चाहा, तब युवक ने मोबाइल को पटक कर तोड़ दिया। किसी तरह बाहर निकलकर उसने घटना की जानकारी अपने भाई को दी। फिर वह सिविल लाइन थाने पहुंची। दो दिन तक डरी-सहमी रही युवती इस घटना के बाद युवती घबरा गई थी। दो दिन तक वह कमरे में रही और खुद की बदनामी के डर से किसी को कुछ नहीं बताई। शुक्रवार को उसने अपने भाई को इस घटना की जानकारी दी। उसके कहने पर वह शुक्रवार को सिविल लाइन थाने पहुंची। दो दिन तक युवती डरी-सहमी रही। साधारण मारपीट का केस दर्ज कर पुलिस ने की खानापूर्ति मारपीट से घायल युवती सिविल लाइन थाने पहुंची और आप बीती बताई। पुलिस को कई जगहों में जख्म के निशान दिखाए। युवती की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी मनीष साहू के खिलाफ साधारण मारपीट और मोबाइल तोड़ने का केस दर्ज कर युवती को लौटा दिया। महिला पुलिसकर्मी से होनी थी काउंसलिंग लेकिन, नहीं हुई दरअसल, इस तरह से महिला संबंधी अपराधों की एफआईआर महिला पुलिसकर्मियों की ओर से लिखने का नियम है। एसएसपी पारुल माथुर ने महिला अपराधों की गंभीरता को देखते हुए सभी थाना प्रभारियों को इसके लिए निर्देशित भी किया है। लेकिन, यहां युवती जब अपनी शिकायत लेकर पहुंची, तब एएसआई मोहन सोनी थाने में मौजूद थे। उन्होंने युवती से पूछताछ कर एफआईआर दर्ज कर ली है।

बिलासपुर